Divorce ke baad dating kaise karni chaiye? - तलाक के बाद डेटिंग को आसान बनाने के तरीके

                                 तलाक के बाद डेटिंग को आसान बनाने के तरीके

  किसी भी रिश्ते का टूटना किसी भी इंसान को दुख दे सकता है. यह व्यक्ति की मानसिक स्थिति पर काफी जोर डालता है. दो लोग जब किसी रिश्ते में होते हैं और दोनों में से कोई एक छोड़ कर चला जाए तो दूसरे व्यक्ति के लिए खुद को संभाल पाना काफी कठिन हो जाता है. और इसे इस दुख से उभरने में काफी समय लगता है. इस स्थिति में एक नए रिश्‍ते के लिए तैयार होने में समय लग सकता है. अक्सर लोग एक रिश्ता टूटने के बाद कभी किसी दूसरे रिश्ते में नहीं बंधते. उन्हें डर होता है कि कहीं फिर से उनके साथ कुछ बुरा ना हो जाए. ऐसे में आपको अपने अंदर कुछ बदलाव करने होंगे. इस से संबंधित कुछ टिप्स  है:




  • मन की सुनें

 आपको किसी से फिर से प्यार करने और विश्वास करने के लिए अपना दिल खोलने की जरूरत है. हालांकि आपका पिछला अनुभव नए रिश्ते  की शुरुआत में बाधा बन सकता है, लेकिन आपको  शांति और धैर्य के साथ इन हालात से निकलने की जरूरत है. इसके लिए बस अपने मन की सुनें और जो हो रहा है, उसे हल्के में लें.



  • पहले से कर लें तैयारी

           - डेटिंग पर जाने से पहले ही कुछ सवाल तैयार कर लें. जो आपको सामने वाले व्यक्ति से पूछने हैं. योंकि इससे उस व्यक्ति  को ठीक से जानने और बातचीत जारी रखने में मदद मिलेगी। रिश्ते  को बनाने का फिर एक मौका आपके सामने है.




  • जिंदगी का नाम चलना-

 एक बाद का ख्याल हमेशा रखें कि जिंदगी कभी किसी के लिए नहीं रुकती. आप भी पिछला कड़वा अनुभव भूल कर आगे बढ़ने की कोशिश करें. नया रिश्‍ता आपको रोमांचक लग सकता है, लेकिन यह उत्साह आपको भ्रमित भी कर सकता है और तनाव में भी डाल सकता है.


  • निर्णय लेने में ना करें जल्दबाजी

पहली मुलाकात के ठीक बाद ही अपना निर्णय न लें. अपने नए रिश्‍ते के लिए समय लें और तब तक प्रतीक्षा करें जब तक आप सही व्यक्ति से नहीं मिलते, क्योंकि आप जीवन में एक गलत रिश्‍ते से गुजर चुके हैं और आप उस गलती को दोहराना नहीं चाहेंगे।


इसके अलावा भी कुछ महत्वपूर्ण बातें है  जिनका ध्यान रखना चाहिए:



1 छोटी-छोटी हल्की-फुल्की बातें करना शुरू करें।इस से आगे की बातचीत आसान हो जाती है. थोड़ी बहुत आम विषयों पर बात कर के आगे की बातचीत का आधार बन जाता है.


2 बौडी लैंग्वेज बहुत महत्त्वपूर्ण है. मुसकराएं पर स्वाभाविक रूप से. ऐसा कुछ न करें कि उसे लगे कि आप तो फर्स्ट डेट में ही गले पड़ रही हैं और फिर वह कभी आप से मिलना न चाहे.



3 यदि आप हंसमुख स्वभाव की हैं, तो आप के लिए कई हल्की-फुल्की बातें करना आसान होगा. अगर आप को जोक्स सुनाना पसंद है, तो सुनाएं पर अश्लील न हों, सिचुएशन में फिट बैठते हों.


4 सच लगते कौंप्लिमैंट्स दें, जैसे आप की आंखें सुंदर है, आप हंसते हैं, तो बहुत अच्छे लगते हैं.


5 आप की पर्सनैलिटी इंट्रैस्टिंग होनी चाहिए. टीवी से बाहर निकलें, शारीरिक एक्टिविटीज करें, कुछ अच्छी बुक्स पढ़ें ताकि दिमाग के सोए सैल्स जागें और आप के पास रोचक बातें हों. म्यूचुअल टौपिक पर छोटी-छोटी बातें करना शुरू करें जैसे बुक्स, मूवीज, म्यूजिक आदि पर.


6 राजनीति, धर्म और अपने पूर्व पति की बातें करने से बचें. अपने रिश्ते के बिगड़ने पर लंबी बातें बिलकुल न करें.


7 फर्स्ट डेट पर इतनी ही जानकारी दें कि आप का तलाक कब हुआ है, यह फ्रैंडली डिवोर्स था और आप अपने एक्स को आगे के जीवन के लिए शुभकामनाएं देती हूं. बस, इस से आप की डेट को पता चल जाएगा कि आप पिछले रिश्ते से आगे बढ़ चुकी हैं और आप के साथ रिश्ता रखने में उसे कोई ड्रामा देखने को नहीं मिलेगा.



8 अपनी डेट की किसी बात पर भाषण न दें, ज्यादा सवाल न पूछें. ऐसा महसूस न कराएं कि जैसे आप उस का इंटरव्यू ले रही हों.


9 डौमिनेटिंग न हों, जितना बोल रही हों उतना सुनें भी.


10 आंखें मिला कर बात करें. आप ने दूसरी डेटिंग वैबसाइट्स पर भी कुछ किया हो तो उस की बात न करें.


11 जब तक इमरजैंसी न हो फोन यूज न करें.


12 आप का उद्देश्य एक-दूसरे को जानना होना चाहिए, अगले पति का इंटरव्यू नहीं.


13 यह धारणा न बना लें कि सब पुरुष एक जैसे ही होते हैं. यह न सोचें कि आप का तलाक हुआ है तो आप में ही कोई कमी है. अपना आत्मविश्वास कम न होने दें. तलाक जीवन का दुखद अनुभव होता है, पर प्यार के बारे में सकारात्मक ही सोचें.




14 डेटिंग से पहले स्वयं को इस रिश्ते के लिए मानसिक रूप से तैयार कर लें. पिछले रिश्ते में हुए दुखद अनुभवों का कारण समझ लें, गुस्से से डेटिंग शुरू न करें. काउंसलिंग सैशंस ले रहा हों तो बीच में न छोड़े ताकि फिर गलत लोगों को न चुन लें. पहले अपनी पसंद की चीजों की लिस्ट बनाएं और फिर उन्हें करना शुरू करें जो आप को खुश रखेंगी.


15 तलाक के बाद डेटिंग आसान नहीं है. अपने आसपास अच्छे लोगों का ग्रुप रखें जो आप को जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता रहे.


16 आगे बढ़ने से पहले 5-6 बार डेट पर जाएं. कैमिस्ट्री समझ आने के बाद बाहरी लुक के अलावा करुणा, विश्वसनीयता, पारदर्शिता, ईमानदारी और इंटैलिजैंस भी देख लें.


17 औनलाइन पोस्ट किए आप के फोटो अच्छे, मुस्कराते हुए हों और सिर्फ आप के ही हों।


18 मैसेज करना ठीक है पर इतना ही कि पहुंच रही हूं या लेट हो रही हूं. सारी बातचीत मैसेज में ही न हो, क्योंकि इस से इंटिमेसी खत्म हो सकती है. यदि कोई आप को बहुत मैसेज करता हो तो सुझाव दें कि इस के बजाय बात ही कर लें. किसी से बात करना और उस के साथ समय बिताना ही उसे जानने का सर्वोत्तम तरीका है.


19 नए रिश्ते में सैक्स अच्छा लग सकता है पर बहुत जल्दी इस के लिए तैयार न हों, क्योंकि औक्सीटोसिन ऐस्ट्रोजन, टेस्टोस्टेरौन और डोपामाइन अपना प्रभाव दिखा रहे होते हैं. अपनी फर्स्ट डेट पर किसी के साथ सोएं नहीं.



20 डेटिंग एक प्रक्रिया है. सबकुछ बहुत तेज स्पीड में होने की आशा न रखें. धैर्य और सकारात्मकता से काम लें.



21 चाहे आप को औस्कर या नोबेल प्राइज ही क्यों न मिला हो, डींगे न हांकें. डींगे हांकने में असुरक्षा दिखती है.


22 इस बात से डरें नहीं कि वह आप को रिजैक्ट कर सकता है. सामान्य रहें. अपने स्वाभिमान को आहत न होने दें.


23 चूंकि एक महिला अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए डेट पर समय बिताने के लिए कई बार दुविधा में रहती है तो उस की डेट पर उसे यह महसूस करवाना चाहिए कि आप उस के साथ सेफ हैं, अपने बारे में पूरी जानकारी देनी चाहिए जैसे कहां काम करती हैं, दोस्त कौन-कौन हैं, खाली समय में क्या करना पसंद करती हैं.


24 फर्स्ट डेट पर ऐसे सवाल पूछ सकते हैं. क्या आप ने किसी और देश की यात्रा अकेले की है? क्या आप का मन करता है कि सब छोड़ कर घूमने निकल जाएं? क्या आपको हौरर मूवीज पसंद हैं? विशेषज्ञों की राय है कि यदि कोई इन 3 सवालों के जवाब वैसे ही देता है जैसे आप देते, तो यह आप का सही मैच हो सकता है.



25 सुस्ती, देरी डेट के प्रति असम्मान दिखाती है. इसलिए समय पर पहुंचें. इन सारी बातो का ध्यान रखने से हो सकता है हमे एक ऐसा पार्टनर मिल जाए जो हमारी उम्मीद से भी ज्यादा अच्छा हो और हमारे जीवन में प्यार की बहार आ जाए।


Previous Post Next Post